Funny School Jokes 2018

अंग्रेजी बोलने का भूत जब दिमाग पर
चढ़ता है तो कुछ इस प्रकार का माहौल बन जाता है..
टीचर – कल तुम कोचिंग नहीं आये कहाँ थे.?
स्टुडेंट – वो कल हमारे यहां मंदिर में
ब्युटीफुल ट्रेजडी था ना, इसलिए नहीं आ पाया।
टीचर – ब्युटीफुल ट्रेजडी से मतलब ?
स्टुडेंट – मतलब सुन्दर काण्ड था।
टीचर अभी भी सदमें में है…

================================================================================




आजकल के बच्चे क्या समझेंगे
हमने किन मुश्किल परिस्थितियों में पढ़ाई की है,
कभी कभी तो मास्टर जी हमें
मूड फ्रेश करने के लिये ही कूट दिया करते थे!!

================================================================================

वो लड़कियां भी किसी आतंकवादी से कम नही हुआ करती थी…
जो टिचर के क्लास मे आते ही याद
दिला देती है ..
सर आपने टेस्ट का बोला था…!

================================================================================

संता और बंता आठवीं में आठवीं बार फ़ैल हो गए
संता: चल खुदखुशी कर लेते हैं
बंता: साले, पागल हो गया है??
अगले जनम में फिर नर्सरी से शुरू करना पड़ेगा!!!

================================================================================

बायोलॉजी के टीचर- सेल मतलब शरीर की कोशिकाएं…
फिजिक्स केे टीचर- सेल मतलब बैटरी…
इकॉनॉमिक के टिचर- सेल मतलब बिक्री….
हिस्ट्री के टीचर- सेल मतलब जेल….
अंग्रेजी के टीचर- सेल मतलब मोबाइल
मैने तो भाई पढ़ाई ही छोड दी,
जिस स्कूल में पाँच शिक्षक.. एक शब्द पर एकमत नहीं हैं।
उस स्कूल में पढ़ कर हमें क्या मिलेगा?

Also Read: Husband on Wife’s school reports

================================================================================

पप्पू कॉलेज की लड़की से बोला:
“आई लव यू, अब तुम मुझे बोलो..”
लड़की :
“मैं अभी जा कर सर को बोलती हूँ” :-X
पप्पू :
“पगली सर को मत बोल,
उनकी तो शादी हो गयी है”

आज कल के बच्चे रिफ्रेश होने के लिए जहाँ वाटर पार्क,
गेम सेंटर जाने की जिद करते हैं …
वहीं हम ऐसे बच्चे थे जो मम्मी-पापा के एक झापङ से ही फ्रेश हो जाते थे.!

================================================================================

वो भी क्या दिन थे….?
.
जब बच्चपन में कोई रिश्तेदार जाते समय 10 ₹ दे जाता था..
और माँ 8₹ टीडीएस काटकर 2₹ थमा देती थी….!!!
———–
आज कल के माँ बाप सुबह स्कूल बस में बच्चे को बिठा के ऐसे बाय बाय करते हैं,
जैसे पढ़ने नहीं,
विदेश यात्रा भेज रहें हो….
और
एक हम थे जो रोज़ लात खा के स्कूल जाते थे…

================================================================================

कल जो मैंने एक बच्चे से पूछा:
पढ़ाई कैसी चल रही है?
उसका जवाब आया
अंकल,
समंदर जितना सिलेबस है;
नदी जितना पढ़ पाते हैं;
बाल्टी जितना याद होता है;
गिलास भर लिख पाते हैं;
चुल्लू भर नंबर आते हैं;
उसी में डूब कर मर जाते हैं।

================================================================================

टीचर ने छात्रों से पुछा।
टीचर: एक बात बताओ, तुम पढाई में ध्यान क्यों नहीं देते?
एक छात्र: क्योंकि पढाई सिर्फ दो वजहों से की जाती है।
1st डर से
2nd शौख़ से
और,
फालतू के शौख हम रखते नहीं और
डरते तो किसी के बाप से नहीं।

Also Read: Top IIN school pass out funny Jokes


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: