Two Line Sayari in Hindi

Hindi Two Line Sayari

न पाने से किसी के है न कुछ खोने से मतलब है…




ये दुनिया है इसे तो कुछ न कुछ होने से मतलब है..

~ वसीम बरेलवी

 

आँखें जो उठाए तो मोहब्बत का गुमाँ हो…

नज़रों को झुकाए तो शिकायत सी लगे है..

~ जाँ निसार अख़्तर

 

ज़रा ज़रा सी शिकायत पे रूठ जाते हैं…

नया नया है अभी शौक़ दिलरुबाई का..

~ जलील मानिकपूरी

 

इसी ख़याल से पलकों पे रुक गए आँसू…

तेरी निगाह को शायद सुबूत-ए-ग़म न मिले..

~ वसीम बरेलवी

 

बदला न अपने-आप को जो थे वही रहे…

मिलते रहे सभी से मगर अजनबी रहे..

~ निदा फ़ाज़ली

 

कमाल-ए-आशिक़ी हर शख़्स को हासिल नहीं होता…

हज़ारों में कोई मजनूँ कोई फ़रहाद होता है..

~ शफ़ीक़ जौनपुरी

 

जिनके आँगन में अमीरी का शजर लगता है…

उनका हर ऐब ज़माने को हुनर लगता है..

~ अंजुम रहबर


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: