मस्त हिन्दी चुटकुले – Pati Patni Radhe Maa aur Bapu

 

पतनी-सुनो जी मुझे पाँच हज़ार रुपये दे दो
नहीं है ।
तो चार दे दो
नही हैं ।
अच्छा ,आज के बाद मुझे छूना भी मत, बात भी न करना ।
मेरी तरफ़ देखना भी मत ।
नहीं देखूँगा ।




पाँच हज़ार रुपये राधे अम्माँ के यहाँ चढ़ाऊँगा
वो नाच के भी दिखाएगी
जप्फी वप्फी भी डालेगी
हो सकता है गोद में भी—
पत्नी सुनकर बाहर को जाने लगती है
अब बिन पैसे के कहाँ चली ।
बापू आसाराम के आश्रम जा रही हूँ
सुना है बापू की गैरहाजरी में भी बापू के शिष्य सारी
“धार्मिक गतिविधियाँ ”
उसी तरह से चला रहे हैं । दो चार दिन वहीं रहूंगी ।
अरे पगली ! बस तू भी ना !
ये ले पाँच हज़ार


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: