Ek chhoti si pyar bhari kahani.

PagalBabu की PagalPanti
💥 रंग से गोरी न थी,
लेकिन सुन्दर थी,
.
.
बहुत ऊंची न थी
लेकिन मेरे लिए योग्य थी
.
.
प्रेम देने वाली न सही लेकिन
मेरे कदमों से कदम मिलाती थी।
.
.
.
मंदिर आने से इनकार करती थी,
लेकिन बाहर मेरा इंतजार करती थी।
.
.

कहीं भी जाओ मेरे साथ चल देती थी जहाँ रुकु
मेरे लिए रुक
जाती थी वो…….
.
.
कोई मुझे प्यार करे न करे पर वो मुझे बहुत प्यार
करती
थी
.
.
.
बडी मेहनत से पाया था उसे बहुत चक्कर लगाया
था उसे
पाने के लिए
.
.
हजारो की भीड से ढूढा था अपने लिऐ
घरवालो की नाराजगी झेलकर अपनाया था
.
वो जो हमेशा मेरे साथ रही
.
.
पर आज मुझे छोडकर चली गयी
.
.
.
.
.
.
.
मेरी चप्पल थी 👞👞
कोई साला चुरा कर ले गया !!
😛:mrgreen:





Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: