Beautiful poem by –हरिवंशराय बच्चन

Beautiful poem by–हरिवंशराय बच्चन
मंजिल मिले ना मिले

ये तो मुकदर की बात है!




हम कोशिश भी ना करे

ये तो गलत बात है…

जिन्दगी जख्मो से भरी है,

वक्त को मरहम बनाना सीख लो,

हारना तो है एक दिन मौत से,

फिलहाल 

दोस्तों के साथ 

जिन्दगी जीना सीख लो..!!


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: