मोनसून हिन्दी शायरी 

तेज बारिश मेँ खड़ा रहा मैँ..
बस एक शब्द सुनने को…!!
वो कह दे…..इधर आओ पागल भीग जाओगे….!!”   
तभी बीवी की आवाज आई…
अंदर आ जा नासमिटे.

कल वाले कचछैं भी अभी तक नहीं सूखे।





Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: